Coronavirus Precaution Tips कोरोना से बचाव ऐसे करे

Coronavirus Precaution Tips : इस तरह से बचाव करे कोरोनावायरस से…
इससे बचने के लिए किसी बीमार, जुकाम, निमोनिया से ग्रसित व्यक्ति के संपर्क में आने से बचें। मास्क पहनें। अपनी आंखों, नाक और मुंह को न छुएं। हाथों को बार बार अच्छे से साबुन से धोएं।

कोरोना वायरस (Coronavirus )के संक्रमण को कम करने के लिए ये उपाय…
1. अपने हाथ साबुन और पानी या अल्कोहल युक्त हैंड रब (hand sanitizer) से साफ करें।
2. खांसते या छींकते वक्त अपनी नाक और मुंह को टिश्यू या मुड़ी हुई कोहनी से ढकें।
3. जिन्हें सर्दी या फ्लू (Flue)जैसे लक्षण हों, उनके साथ करीबी संपर्क बनाने से बचें।
4. मीट और अंडों को अच्छे से पकाएं।
5. जंगल और खेतों में रहने वाले जानवरों के साथ असुरक्षित संपर्क न बनाएं।

ये भी रखें सावधानियां-
जानकारों के मुताबिक संक्रमण से बचाव के लिए 20 सेकंड तक साबुन से अच्छी तरह हाथ धोएं। मरीज को सीधे छुएं नहीं। खांसते या छींकते समय नैपकिन या कपड़े से मुंह को ढंके। सफर के दौरान एन-95 मास्क (N095, Mask)का इस्तेमाल करने की भी हिदायत दी गई है। एडवाइजरी के मुताबिक, अगर आप संक्रमित हैं तो तत्काल नजदीक के हॉस्पिटल से मास्क लेकर पहनें।

इन  दवाओं से मिलेगी रहत : Medicine for Coronavirus (Ayurveda, Homeopathy, Yunani )

जानकारों के अनुसार हर चिकित्सा विधि में इस तरह की बीमारी के लिए कुछ खास दवाएं काम में ली जा सकती हैं। इसके तहत जानिये किस विधि की कौन सी दवा के संबंध में जानकार मानते हैं कि ये पीडित को राहत देगी।

आयुर्वेद Ayurveda : आयुर्वेद की कुछ दवाओं में अगस्त्य हरितिकी (5 ग्राम) दिन में दो बार गरम पानी के साथ, संशमनी वटी (500) दिन में दो बार, त्रिकटु का चूर्ण 5 ग्राम ले सकते हैं। इसके अलावा एक लीटर पानी में तुलसी की 3 से 5 पत्तियां उबालें। जब ये पानी आधा रह जाए तो ठंडा करके घूंट-घूंट करके पिएं। अणु तेल या तिल के तेल की दो बूंद रोजाना सुबह नाक में डालें।

होम्योपैथी Homeopathy : संक्रमण से बचाव के लिए होम्योपैथिक दवा ‘आर्सेनियम एल्बम-30’ खाली पेट 3 दिन तक ली जा सकती है। यही डोज अगले महीने दोबारा लें। इंफ्लुएंजा वायरस के लक्षण दिखने पर भी यही दवा ले सकते हैं।

यूनानी Yunani : शरबत उन्नाब 10-20 दिन में दो बार, तिरयाक अरबा 3-5 ग्राम दिन में दो बार, तिरयाक नजला 5 ग्राम दिन में दो बार ले सकते हैं। रोगन बनाफशा को नाक पर लगा सकते हैं। रोगन बबूना से सीने और स्किन पर मसाज करें।

बुखार की स्थिति में हबीब-ए-इक्सीर बुखार की दो गोलियां दिन में तीन बार गुनगुने पानी के साथ ली जा सकती हैं। इसके अलावा चिरायता, कासनी, अफसानतीन या नीम की छाल में से किसी एक अर्क शर्बत खाकसी के साथ ले सकते हैं। बनाफ्शा, उन्नाब, सपिस्तान में से किसी एक का काढ़ा पी सकते हैं।

Treatment of Corona-virus : कोरोना वायरस से जीत …

वहीं आयुर्वेद के जानकारों की मानें तो ये वायरस मुख्य रूप से प्रतिरक्षा तंत्र कमजोर होने पर अपना टार्गेट बनाता है। अत: ऐसे में आयुर्वेद में ऐसे कई उपाय है जिनकी मदद से हम अपना प्रतिरक्षा तंत्र मजबूत कर सकते हैं। जिसके बाद मजबूत प्रतिरक्षा तंत्र के चलते हम कोरोना वायरस से भी मुकाबला करने में सक्षम हो सकते हैं।

CoronaVirus Tips

Leave a Reply