Banjara 123

जंगल में एक अकेला जानवर भी जब देखता है अपना बच्चा खतरे में है तो,अपने बच्चे को बचाने के लिए अपनी जान की बाजी लगा देता है “ भारत का संविधान और भारत का लोकतंत्र ” हमारे बच्चों का कवच (armour) है, संविधान और लोकतंत्र विरोधी शासक वर्ग से अपने बच्चे को बचाने के लिए “ भारत का संविधान और भारत का लोकतंत्र ” हमारे बच्चों का कवच (armour) को बचाने के लिए क्या हम अपनी जान की बाजी नही लगायेंगे ?संविधान और लोकतंत्र खतरे में हैं
The Constitution and democracy at risk
हमारी स्वतंत्रता खतरे में है
Our Freedom is in Danger
अपने बहुजन महापुरुषों के जीवन संघर्ष, त्याग, समर्पण, बलिदान, सामाजिक आंदोलन और आत्मसम्मान का प्रतीक “ भारत का संविधान और भारत का लोकतंत्र ” क्या हम अपनी आंखों से नष्ट होते देख सकते हैं ?

अपने बहुजन महापुरुषों के जीवन संघर्ष, त्याग, समर्पण, बलिदान से संवैधानिक जन्मसिद्ध मानवीय अधिकार समता, स्वतंत्रता और न्याय प्राप्त हुए है.

क्या हम अपनी आंखों से नष्ट होते देख सकते हैं ?संविधान विरोधी शासक वर्ग और मीडिया ने संविधान और लोकतंत्र के विरुद्ध शुरू किया षड्यंत्र बहुजन समाज के संविधान लाभार्थी लोग बचा सके तो बचा ले संविधान और लोकतंत्र को संविधान विरोधी शासक वर्ग और मीडिया से संविधान का दुश्मन, = लोकतंत्र का दुश्मन, लोकतंत्र का दुश्मन, = देश का दुश्मन, प्रतिक्रांति X बहुजन क्रांति जागो मुलनिवासी बहुजन जागोसंविधान और लोकतंत्र खतरे में हैं हम खतरे में हैहम प्रतिज्ञा लेते हैं भारत के संविधान को हमारे शरीर में खून की आखिरी बूंद रहने तक रक्षा कर ने की हम प्रतिज्ञा लेते हैं हमारी स्वतंत्रता और आत्मसम्मान को हमारे शरीर में खून की आखिरी बूंद रहने तक बचाने की

Leave a Reply