​!!!! मै बंजारा !!!! (कवि: सुरेश राठोड़)

कवी: सुरेश राठोड़
सौभाग्य की बात है…
मै बंजारा कहलाता हूँ..!!

चलता हूँ-चलवाता हूँ…..

जिने की राह दिखाता हूँ …!!धृ!!
सदियोंसे यह रीत चली है….

गीत जिवन के गाता हूँ……!!

पगडन्डी हो या हो सड़के….

हरदम आगे बढ़ता हूँ…!!१!!
कोयल-सा मै गाता हूँ……

झरणों-सा मैं बहता हूँ…!!

चट्टाणो को चिरकर आगे …

दरीया से मिलवाता हूँ..!!२!!
धप खिली हो घना अंधेरा….

मस्ती भरा इठलाताहूँ……!!

तुफानो में वन-बागो में…….

हरदम मै हरसाता हूँ….!!३!!
भँवरे जैसा गुँजन मेरा……

कली-कली खिलवाता हूँ…!!

फागुन के रंगो की बौछार…..

तितलीसा इतराता हूँ…!!४!!
बादल दमके-बिजली चमके..

मस्त कंलदर चलता हूँ…..!!

आण-बाण और शानसे अपना!!

सफेद झन्डा लहराता हूँ..!!५!!
ऐसा यह बंजारा न्यारा…

मुलनिवासी प्यारा है…!!

पोहरा-ऊमरी काशी…..

संत सेवालाल  हमारा है!!६!!

       कवि: सुरेश राठोड़, काटोल. फोन.  ७३५०७३९५६५

     प्रमुख प्रतिनिधी: रविराज एस, पवार.  ऑनलाइन बंजारा न्यूज पोर्टल 

Website : www.GoarBanjara.com 8976305533

Leave a Reply