​सृष्टीपर सेवाभाया

सृष्टीपर सेवाभाया

रेयेद तारी छाया

तारे विचारेर पाया

पर हाम चालीया

सृष्टीपर सेवाभाया

रेयेद तारी छाया

भाटारो वजायो नंगारा

हिंडो रानोरान

बंजारान दिनो सेवा

जीवनेर ग्यान

तारी शिकवाडीपर

हाम ध्यान दिया

सृष्टीपर सेवाभाया

रेयेद तारी छाया
तारे खरे बोल

हाम तांडेम लेजाया

तांडो तांडो जगाडन

समृद्ध बणाया

बंजारारो राज ‘सेवा ‘

एकदन लाया

सृष्टीपर सेवाभाया

रेयेद तारी छाया

✍ एकनाथ गोफणे

Sevalal Maharaj

 

Tag: Banjara Live News

Leave a Reply