“८अप्रेल विश्व बंजारा दिवस”

*विश्व बंजारा दिवस*
मित्रो सादर नमस्कार,
“८अप्रेल विश्व बंजारा दिवस”
के अवसर पर हम पहली बार पांच जिले का संयुक्त कार्यक्रम करने का प्रयास कर रहे हैं हम इस बात से पुरी तरह आश्वसत है कि सभी को यह कार्यक्रम अच्छा लगेगा जिससे हमे (bys) को प्रेरणा मिलेगी.

मेरी दृष्टि से इस कार्यक्रम कि १० विशेषताऐं-
1  इस कार्यक्रम के बाद निश्चित ही समाज संगठन कि गति जो कम पड गई है या रूक सी गई है को ऊर्जा मिलेगी और उम्मीद है  सामाजिक संगठन अपने बनाये गयें लझ्य को प्राप्त करने के लिये पुनः मैदान मे दिखे.
2.इन पांचो जिले कि बहुत कुछ सामाजिक समस्याये समान है इनके निराकरन मे कुछ प्रयास हों.
3.पंचायत चुनाव मे सामाजिक मन मुटाव बडा है वह सामाजिक एकता से कुछ तो कम होगा.
4.सामाजिक प्रतिभाओं को समाज का सप्रोट मिलेगा जिससे उन्हे आगे बढने कि प्रेरणा मिलेगी.
5. सामाजिक जागरूकता बढेगी..सामाजिक कार्यकर्ताओं को ऊर्जा मिलेगी जिससे वो आगे काम करने के लिऐ प्रेरित होंगें.
6. नवनिर्वाचित जनप्रतिनिधियों का सम्मान से उनके मन मे समाज मे कुछ अच्छा करने कि भावना बनी रहेगी.
7. पहली बार
विशुद्ध रूप से सामाजिक मंच बनाने का प्रयास.
8. स्मारिका “बंजारा उदय” का विमोचन जिसमे- सामाजिक सर्वे,जनप्रतिनिधी परिचय,शासकीय कर्मचारी विवरण,प्रतिभा परिचय,समाज सेवियों के विचार उनका परिचय का समावेश हें..मंच पर हर जिले से एक अतिथि,हर जिले से एक विचार आयेंगे.
9. प्रदेश स्तरीय सामाजिक कर्मचारी संगठन बने उस दिशा मे संयुक्त विचार योग्य व अग्रेसिव युवा को इसकी जिम्मेदारी..
10. अगले वर्ष का संयुक्त आयोजन किस जिले मे होगा उस का तय करना..(प्रस्तावित विषय-हर जिले से २०० युवा मतलब १००० युवाओं का सम्मेलन )
निवेदक-आपका सेवक🙏

Leave a Reply