सालो से पुरे देश मे अपना गोर बंजारा समाज न्यायवंचित

दोस्तों भाईयों और बहनों
कई सालो से पुरे देश मे अपना गोर बंजारा समाज न्यायवंचित है। इस समाज को आज तक शासन की ओर से कभी भी न्याय नही मिला है। और इस मुद्दे पर अपने समाज के नेताओं ने भी एक होकर समाज को न्याय दिलाना जरूरी नही समझा यह गंभीरता से सोचने कि बात है। कुछ नेता खुद को बढ़ा बनाने  के लिए। समाज के कुछ मुद्दे सामने रख कर मोर्चा निकालते है। और गरिब मजदूरों को इस्तेमाल कर आपनी नेतागिरी दिखाते हुए।पार्टी,पाॅलिटिक्स  में अपना कद बढ़ाते है। पर समस्या वही की वही है।ऐसा क्यो? और कब तक? आज भारत की आजादी को 67 साल बित गए है। फिर भी हमारे समाज को न्याय नही मिला ऐसा क्यों? क्यों की हम आज भी  अपने नेताओं से न्याय की आस लगाकर बैठे है। ऐसा कब तक चलेगा दोस्तों? भाईयों हमारे समाजने इस देश को बढ़े बढ़े अधिकारी, समाजसेवक, नेता मुख्यमंञी के रूप मे दिए है।
फिर भी हमारा समाज आज भी न्याय के लिए क्यों भटक रहा है?
क्यों के हमारे समाज को पुरे देश मे अलग अलग “जाती भेद”,अरक्षण भेद, राजनिती भेद, और अपने हि पार्टी पाॅलिटिक्स करने वाले नेता समाज को एक करने की बजाय खुद के स्वार्थ के लिए।बाँट कर रखा है।
दोस्तों “जुडो समाज से और जोडो समाज को”
समाज जिस दिन एक होगा।उस दिन समाज को सही न्याय मिलेगा।

धन्यवाद…

समाजहिंत चितंक
गोर गजानन डी.राठोड
स्वंयसेवक
गोर बंजारा संघर्ष समिती, (भारत)
9619401377

Leave a Reply