समाज को क्या चाहिए।

दोस्तों जिस दिन हम निःस्वार्थ होकर समाज के हितमें चलेंगे वह दिन हमारे लिए सबसे बड़ा दिन होगा।मै मेरे गोर भाईयो से उम्मीद करता हु की वे सब झिरो से एक बने और आपने साथ झिरो को जोडे उनकी किम्मत दस गुना बढ जाएगी।और यही हमें सभी भाईयो को सोचकर आगे बढ़ना है।गोर बंजारा संघर्ष समिति के मेरे सभी निःस्वार्थी स्वयंसेवक भाईयो को निवेदन करता हु।की वे जैसे निःस्वार्थ से समाज के लिए।कार्य कर रहे है।उसी तरह से इस कार्य को आगे बढ़ाए । अच्छा लगता है।
मुझे खुशी है।भाईयो की आप लोगों के साथ काम कर रहा हुँ।
आज तक हमारे समाज को धोके के शिवाय कुछ भी नही मिला है।और वह बहुत ही बुरी तरह से तुट चुका है।हम जो कर रहे है।समाज के लिए कर रहे है।इस कार्य की स्थिति कभी पिछे नही आनी चाहीए।इस बात का खयाल हमें रखना है।भाईयो कोई कुछ भी कहे हम हमारा कार्य सत्य के अनुसार करते रहेंगे।क्योंकि जो सत्य है उनके साथ खुद भगवान होता है।यह हम सबको पता है।भाईयो हमे एक बात ध्यान मे रखना बहूत ही जरूरी है वो  यह है।की जो मनुष्य सत्य और निःस्वार्थ से आपना कार्य करता है।उसीके रास्ते मे बहूत सारी रूखावटे आती है।अगर वही मनुष्य इन रूखावटो का सामना करके आगे बढ गया।तो वही सही मंजिल तक पहूच जायेगा।यह तो सबको पता है।तो दोस्तों सेवालाल बापूके बोल याद करके आगे बढ़ते रहेंगे।क्योंकि हमें समाज के लिए कुछ करना है।और एक कहना चाहुगां की कुछ ऐसा करेंगे की समाज के काम के साथ आपना भी नाम हो जाए।
जय सेवालाल
धन्यवाद

गजानन डी. राठोड
स्वयंसेवक
गोर बंजारा संघर्ष समिति भारत,

Leave a Reply