“मातृदिन के शुभ अवसरपर ढेरसारी शुभकामनाएँ”

” मेरे हर अच्छे कार्य मा बाप को समर्पित”

मा बाप से मिली हूई बाते किसी किताब या उपन्यास मे नही मिली दोस्तो. मा बाप एक जिंदगी कि वोह खुली किताब हैं। जो पूरी पडकर भी खत्म नही होती. मा बाप के शब्दो मे वोह यमक कहा जो किसी लेखक कि किताबो मे मिले. मा बाप कि किताब को सच्चे दिलसे जो पड़ेगा वोह इंसान कही भी असफल नही होगा. जिस मा बाप ने हमे पडाते पडाते खुदकी सारी जिंदगी, सारी खुशियाँ हमे प्रदान की वोह किताब सच्चे दिल से पडकर अपनी जिंदगी सवारलेना हमारा सबसे बढ़ा कर्तव्य हैं।
मा बाप को दिल से प्रणाम करो…और उनके सपनों को साकार करो…
मातृदिन के शुभ अवसरपर ढेरसारी शुभकामनाएँ….mom and dad is everything knowledge book of life…happy mother’s day

गोर कैलास डी.राठोड

image

Posted from WordPress for Android

Leave a Reply