बंजारो की होली

​   बंजारो की होली  

हम बंजारो की बात निराली है  

त्यौहारोमें त्यौहार हमारा होली है  |धृ|

केसुला है फुल हमारा….

केशरीया ओ रंग…….

रह जाओगे दंग ………

यह तो बंजारो की होली है |1|

धुम मची है चारो ओर….

गली-गली मचा है शोर..

गाँव हुआ शराबोर भिगा..

नाता दामन-चोली है…. |2|

       हम बंजारो की होली है!

गाते लेंगी-जोड़े पाई…….

डफड़ा बाजे डम डम डम

तांडो नाचे छम छम छम….

मानो सारी दुनिया डोली है |3|

       हम बंजारो की होली है!

हम है प्यारे सबसे न्यारे…….

ठाट-बाँट निराला है……..

गातै रहते अपनी धुनमे……

खेले हमजोली है…….. |4|

      हम बंजारो की होली है 

सेवालाल के चरणो की धुल..

वंसत नायक नाम का गेंदा फुल 

माफ करदो सारी भुल…..

रंग केसुला की लाली है .. |5|

       हम बंजारो की होली है

     लेखक/कवी:  सुरेश राठोड़,  काटोल ७३५०७३९५६५

प्रमुख प्रतिनिधी: रविराज एस. पवार 8976305533

Banjara News
www.goarbanjara.com

2 Comments
  1. Avatar
  2. Avatar

Leave a Reply