छोटी मानसिकता से बाहर निकले__ भारत में सक्रिय होता बंजारा

संवाददाता नई दिल्ली:
नमस्कार दोस्तों
जय भारत जय बंजारा
मुझे यह देखकर अच्छा लग रहा है कि आज भारत में बंजारों में जागृति ,सक्रियता देखने को मिल रही है, दोस्तों बंजारों में लगभग डेढ़ सौ संगठन कार्यरत हैं, जो राज्य तथा राष्ट्रीय स्तर पर हैं हर संगठन का प्रयास काबिले तारीफ है

जहां एक तरफ सामाजिक लड़ाई सामाजिक संगठन लड़ रहे हैं तो दूसरी तरफ कुछ चंद लोग यह गुमान में रहते है कि हम ही सर्वोपरि हैं, आश्चर्य इस बात का है कि बीते 25- 30 वर्षों में उनके सामाजिक कार्य शैली और सामाजिक प्रोग्रेस कितनी रही है, यह बताने की आवश्यकता नहीं और जो लोग उन्होंने ईमानदारी से समाज की सेवा की है उनको मेरा शत-शत नमन है/

भारत के बंजारों में बीते कुछ वर्षों में आश्चर्यजनक बदलाव की आहट है, यकीनन उन महान बंजारा नेताओं को शर्मिंदा अवश्य करेगी जिन्होंने बीते वर्षो में समाजिक पीड़ा को जानकर केवल स्वार्थ की राजनीति की है

मैं केवल यह कहता हूं कि हमें ऐसे सभी छोटी मानसिकता लोगों से ऊपर उठकर देश के बंजारों के उत्थान विकास आदि पर ध्यान केंद्रित करना होगा/ मुझे खुशी है कि दिल्ली ही नहीं संपूर्ण भारत के बंजारो में जागरूकता बढ़ी है किंतु यह भी सत्य है कि समाज को गुमराह करने और स्वार्थ राजनीति और युवाओं को बरगलाने का दौर आज भी जारी है/
आवश्यकता है, युवाओं को ऐसे पाखंडी लुटेरों से बचकर रहने की तथा आगे निकलने का भरपूर प्रयास करें

ऐसा इसलिए भी है,अशिक्षा का फायदा आज भी उठा रहे हैं, जीवन का तजुर्बा बहुत कुछ बयां करता है और हमें अपने अनुभव से सच को जाने और अपनाने की आवश्यकता है यही मार्ग समाज की उन्नति मार्ग कहलायेगा /

जय भारत जय बंजारा

विशेष संपादकीय_
बंजारा आर के राठोर एडवोकेट
न्यायिक नायक राष्ट्रीय हिंदी समाचार पत्र की रिपोर्ट नई दिल्ली
अध्यक्ष दिल्ली प्रदेश
ऑल इंडिया बंजारा सेवा संघ
राष्ट्रीय अध्यक्ष ,लीगल सेल
ऑल इंडिया विमुक्त जाति चैरिटेबल फाउंडेशन
राष्ट्रीय महासचिव
आदिवासी जागरूकता मंच भारत

Leave a Reply