खुद में बदलाव लाकर समाज में एक नई गती निर्माण करनी होगी

2015-01-14_105141

04 जनवरी 2015 को थाने में बालकुम परिसर के शिवाजी नगर तांडा में गोर बंजारा संघर्ष समिती ( भारत ) की बैठक संपन्न हुई । गोर बंजारा संघषल समिती के संयोजक श्री.रविराजजी राठोड के मार्गदर्शन में शिवाजी नगर तांडे के गोर बंजारा संघर्ष समिती से संलगन गोर बंजारा संघर्ष सेना के पदाधिकारीयों ने इस बैठक का आयोजन किया था इस बैठक का सूत्रसंचालन गोर बंजारा संघर्ष समिती के स्वंयसेवक किशन व्ही. राठोड करते हुए बंजारा समाज के धर्मगुरु संत श्री सेवालाल महाराज के चरणों में नथमस्तक होकर बैठक की सुरुवात की. इस बैठक में समिती के स्वंयसेवक पदाधिकारी एवं महिलाए भी उपस्थिति होकर अपने अपने विचार रखते हुए गोर बंजारा संघर्ष समिती के साथ जुडो और जोडों समाज को अभियान में शामिल होने की घोषणा की। समिति के स्वंयसेवकों ने संबोधित करते हुए, कहा की समाज में एकता की भावना से जुडकर समाज को आगे लाने की बहूत जरुरत है और समाज के गोर गरिबों को व मजदूरों को उनका हक्क दिलाने और गरिब मजदूरों के बच्चों को शिक्षित बनाने के लिए । समाज के हर बुध्धिजीवी भाइयों को एकसाथ मिलकर समाज को सही दिशा देने की जरुरत है, गोर बंजारा संघर्ष समिती के खास उददेशों को लेकर समिति के स्वयंसेवक केलाश राठोड ने कहा समाज का इतिहास सदियों पुराना है, उसे हम खोना नहीं चाहते अगर समाज एकता की राह पर चलता है, तो समाज का इतिहास और भी सफलता की ओर बढ़ सकता है. हमें हमारे समाज की संस्कृति को याद रखकर खुद में बदलाव लाकर समाज में एक नई गती निर्माण करनी होगी. समिती के स्वंयसेवक भाष्कर राठोड , देवराज राठोड, प्रकाश राठोड, रमेश राठोड, यशवंत राठोड, सुरेश राठोड,  गजानन डी राठोड व महिला स्वंयसेविका सौ. जनाबाई राठोड सौ. राजश्री राठोड व कविता चव्हाण इन्होने समाज के प्रति अपने अपने विचार रखे. इस बैठक में स्वामी आडे , उदयसिंग पवार ,रुपेश राठोड फुलसिंग राठोड व कई मानपाडा पातलीपाडा लोकमान्य नगर के स्वयंसेवक पदाधिकारी एवं महिलाए भी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

Leave a Reply