“एकबार हारने से जिंदगी तबाह नही होती”

एक बार हारने से जींदगी तबाह नही होती,

हरबार प्रयास करना ही सत्य जीवन हैं।

जीवन को खुशी से जीना ही सत्य जीवन हैं।

खुद को खोजने कि कोशिस करने मे ही सत्य जीवन हैं।

खुद मे बदलने कि कोशिस करने मे ही सत्य जीवन हैं।

जीवन मे अगर आप कुछ करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको नया आयाम खोजना होगा, उस के बाद समाज में व्याप्त होकर सभी समाज के लिऐ कार्यरत हैं।

उनके साथ अच्छे व्यवहार से जूडकर एक अच्छा व्यावहारिक बनकर सभी का एक आदर्श लेकर कार्य करना होगा.

तभी हम अपने आप को कोई अच्छा इंसान बनने मे लगेंगे.

तब हमारी संस्कृति में बदलाव लांयेंगे.

एक बार हारने से हमे कभी इतना जल्दी सोचना नही चाहिये.

आपकी हार वोह कल था..जो चलागया…

आपको आगे और बढी बढी लढायीयों का समना करना हैं वोह आनेवाला कल हैं।

तो उठो और दौडो…ना रूखना है। ना झूकना हैं।

यह सत्य जीवन हैं।

हमेशा सत्य की राह चलो..

परेशानीया आपने आप खत्म होजायेंगी..।

ईश्वर हैं। लेकिन वोह बाहर कही जंगल मे या जमिन पर नही.

उन्हे खोजना है सिर्फ अपने भितर (अंदर)

जब आप खुदमे ईश्वर खोजना चालू करोगें उस दिन से आपको कोई हरा नही सक्ता…समाज के प्रति प्रेम भाव रखकर जीवन में प्रयास करने वाले ही इतिहास बनाते हैं।

धन्यवाद….????

गोर कैलास डी राठोड

प्रमुख पत्रकार बंजारा आँनलाईन न्यूज पोर्टल

website: m.goarbanjara.com

Leave a Reply