“उठ तांडा ठोक दांडा”

जय सेवालाल भाईयों 👏..
ता.२१/२३ व २४ एप्रिल २०१५ को तावरजखेड तांडा उस्मानाबाद, मे बंजारा समाज के तांडोमे हुये हमले को निषेध करते हुये आपको यह बताना चाहुंगा कि और “कबतक जिना हैं राजकिय गुलामी” मे.अगर हम राजकिय लोंगो के भरोसे हमारे समाज को न्याय दिलाने कि सोंचरहे है तो यह भुलजाये कि कोई समाज का लिडर या मंञी हमे समाज हित मे साथ देगा.यह अपनी सोंच गलत हैं | हम गलत सोचरहे हैं | अब हमे सोंच बदलनी होगी.बंजारा समाज इतना शुरविर समाज होते हुये भी आजकल तांडेमे जाकर गांव के गुंडे समाज के बंधुओ को मारपिट करते हैं | क्या यह सही हैं | भाईयो समाज को बच्याना होगा.हमे एकसाथ जुडकर इस सामुहिक द्वेष को मिठाना होगा.तभी हमारे समाज के गरीब भाईयो को शांती मिलेगी सच्या न्याय मिलेगा.कुछ दिन पहिले राजस्थान के एक तांडेमे इसी प्रकार के हमले हुये थे.यह क्या और क्यों होरहा हैं | हमे बहुत दुख के साथ सोचना होगा.भाई इसका एक ही कारण होगा के इन देश के मंञी या समाज के लिडर को मालुम हैं यह समाज एकता मे नही हैं | इसके लिऐ येह समाज के ठेकेदार समाजके साथ इतने बुरे हादसे करवारहे हैं इसलिऐ बंजारा समाज मे खुशहाली नही आरही हैं | हमे सही तरीके से समाज के सारे बुद्धिजिवी भाईयो को आकर आवाज उठाना होगा के समाज पर होरहे हामले को अगर रोखना हैं | तो समाज कि सारी संघटनायें राजनितीक दलो से  छुटकारा पाकर सिर्फ सामाजिक कार्य को आगे बढाना होगा.क्यो कि हम एक दुसरेको गाली गलोच्च देकर समाज मे भाग कररहे हैं | इस बात को अंजाम देना होगा कोई छोटा या बडा नही हैं | हमे समाज मे परिवर्तन अगर लाना है तो समाज कार्य करना होगा.राजकारन नही.अगर समाज के गरीब भाईयो को सही दिशा दिकानी हैं तो समाज के सारे भाईयो को एकसाथ जुडकर समाज के इन ठेकेदारो को दिकाना होगा.इन ठेकेदारों को रास्तेसे हटाना होगा.इन ठेकेदारों की दुकाने बंद करनी होगी.और समाज के साथ निस्वार्थी स्वयंसेवक बनकर समाज हित मे काम करना होगा.जब बंजारा समाजपर होरहे अन्याय कम होंगे..आज उस्मानाबाद मे हुआ कल दुसरे तांडेमे होंगे..परसो तिसरे तांडेमे होंगे..ऐसे ऐसे हर तांडेमे गावटी गुंडोका सफर चालु रहेगा इस अन्याय को बंद करना होगा.भाईयो सोंचो समजो और समाजमे परिवर्तन लानेके लिऐ एकसाथ आयें…किसी राजनितीक के गुलाम बनकर जियो गे तो ऐसे ही लाथ माकर निकालदिये जावोगे..समाज के साथ जुडकर रहोगे तो समाज आपके साथ हमेशा रहेगा…इस लिऐ कहना चाहुंगा जुडो और जोडो…गोर बंजारा संघर्ष समिती भारत, का जुडो और जोडो अभियान चालु हैं | समाज को सही दिशा और खुशहाली लाना हैं तो गोर बंजारा संघर्ष समिती के साथ जुडे..
जय गोर जय सेवालाल…
-: स्वयंसेवक प्रचारक:-
गोर कैलास डी.राठोड
गोर बंजारा संघर्ष समिती भारत व स्वयंसेवर परिवार,

Leave a Reply