Joomla Vorlagen by User Reviews FatCow

बंजारा (वन+चारा ) शब्द की उत्पति बन + जारा, बन/वन(जंगल ) जारा (विचरण) भटकना. बंजारा (वन+चारा ) शब्द संस्कृत से निकला हुआ अभ्रंक शब्द है, जिसका मतलब जंगलो में रहना या विचरण करना. गौरवंशी में गाय कि पूजा अर्चना आज भी की जाती है टांडे में भगवान के नाम से एक बैल छोड़ा जाता है, उसे सांड कहा जाता है. गोरवंशी का प्राचीन इतिहास का विभाजन मोटे तौर पर इस तरह से किया है, और इस काल में गोरवंशी के विभिन्न संदर्भ बदलते हुए परिवेश में दिए है more..

 

Bharat Banjara Ekta Social movement

मित्रो आपण देश आजाद वें 67 वर्ष वेगेछ, पण बंजारा समाजेर स्थिति आज भी एक दयनीय आणि अविकसित छ. आज भी हमार परिस्थिति वेरि छ की आपण जीवन पाले पोसे सारु छ लदेनी चालरि छ परन्तु अबे तक स्थाई हुए कोणती. जेती आपण विकास वेरो कोणती. आपण समाजेम शिक्षणेर भरपूर कमी छ, सही मार्गदर्शक छेई, आच्छो लीडरशिप (राजनेता) छेई&, छ भी तो ओंन समाजेरो सपोर्ट छेई. सहूलियत छेई या छ तो आपणुन ओरो फायदो लेतु आरों कोणी. हनु खुपच कारण वे सक छ. आपनो समाज मेहनत अन कष्ट करन खाए वालो समाज छ, आज भी समाजेर 80% टका लोग मजदूरी आणि खेती (शेती) कर छ. अन खुप लोग कामेसारु भटकते छ, लोग शहरेम आरेछ काम- मजदूरी करन खारे छ. More